पुरानी पेंशन बहाली और ठेका कर्मचारियों को पक्का करने की मांगों की अनदेखी

फरीदाबाद : केंद्रीय आम बजट में पुरानी पेंशन बहाली और ठेका कर्मचारियों को पक्का करने की मांगों की अनदेखी से नाराज कर्मचारियों ने आंदोलन का ऐलान किया है। सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के प्रदेशाध्यक्ष सुभाष लांबा ने बुधवार को नगर निगम सभागार मे आयोजित कार्यकर्ता प्रशिक्षण शिविर को संबोधित करते हुए बताया की 27 फरवरी को मांग दिवस का आयोजन किया जाऐगा। मांग दिवस पर सभी विभागों, बोर्डों, निगमों, विश्वविद्यालयों,नगर निगमों, पालिकाओं व परिषदों के कर्मचारी अपने अपने कार्यालयों पर विरोध सभाएं आयोजित कर प्रदर्शन करेंगे। विरोध सभाओं व प्रदर्शनों में सावृजनिक क्षेत्र के उपक्रमों व जन सेवाओं को बचाने, पुरानी पेंशन बहाल करने,ठेका प्रथा समाप्त कर ठेका कर्मियों को पक्का करने ,पक्का होने तक समान काम समान वेतन देने और सेवा सुरक्षा प्रदान करने आदि मांगों को प्रमुखता से उठाया जाऐगा।
जिला प्रधान अशोक कुमार की अध्यक्षता में आयोजित इस शिविर में जिला व ब्लॉक कमेटियों के पदाधिकारियों और सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा से संबंधित विभागीय संगठनों के पदाधिकारियों ने भाग लिया। शिविर मे सीटू के उपाध्यक्ष कामरेड वीरेंद्र मलिक, सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के वरिष्ठ उपप्रधान नरेश कुमार शास्त्री, आल इंडिया स्टेट गौवर्नमेंट इम्पलाइज फेडरेशन के वित्त सचिव श्रीपाल सिंह भाटी, हरियाणा रोड़वेज वर्कर यूनियन के मुख्य सलाहकार राम आसरे यादव, हरियाणा टूरिज्म कर्मचारी संघ के महासचिव युदबीर सिंह खत्री, नगरपालिका कर्मचारी संघ हरियाणा के उप महासचिव सुनील चिडालिया उपस्थित थे। कामरेड वीरेंद्र मलिक ने कहा कि सरकार सीएए, एनपीआर व एनआरसी के देशव्यापी आंदोलन के शोर मे जन सेवाओं और सावृजनिक क्षेत्र के उपक्रमों का निजीकरण तेजी से कर रही है।जिसका व्यापक एकता के साथ मुकाबला करने की आवश्यकता है।
सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के अध्यक्ष सुभाष लांंबा व नरेश कुमार शास्त्री ने शिविर को संबोधित करते हुए कहा कि 27 फरवरी के मांग दिवस के बाद 15 अप्रैल से 15 जून तक एनपीएस प्रभावित और अनुबंध पर लगे कर्मचारियों को विभागवार संगठित कर राष्ट्रीय आंदोलन के महत्व को समझते हुए इसको मजबूत करने का अभियान चलाया जाएगा। उन्होंने बताया कि इसके बाद 15 जुलाई से 15 अक्टूबर तक सभी राज्यों में हजारों वाहन जत्थे चलाए जाऐंगे, जिनका समापन चंडीगढ़ मे आयोजित होने वाली विशाल रैली मे किया जाऐगा। शिविर को संबोधित
 कर्मचारी संघ हरियाणा के वरिष्ठ उप प्रधान नरेश कुमार शास्त्री ने कहा कि  आंदोलन को सफल बनाने के लिए कमर कस ली है। सभी जिलों में जिला कार्यकारिणी की मीटिंग आयोजित की जा रही है और 27 फरवरी के मांग दिवस को सफल बनाने के लिए 20 फरवरी तक जिला स्तर पर कार्यकर्ता सम्मेलन आयोजित किए जाऐंगे।  उन्होंने आरोप लगाया कि हरियाणा सरकार बीस जुलाई,2019 को मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में सरकार के साथ हुई मीटिंग में मानी हुई मांगों और विभागीय यूनियन के साथ किए समझोतों को लागू न करके कर्मचारियों को आंदोलन के लिए मजबूर कर रही है। मीटिंग में युदबीर सिंह खत्री, शब्बीर अहमद गनी,रमेश तेवतिया, कृष्ण चंद,  करतार सिंह, गुरचरण खाडिया, श्रीनंद ढकोलिया,मास्टर भीम सिंह, नानक चंद्र खरालिया, सोमपाल झंझौटिया आदि नेता उपस्थित थे।
You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.