हिन्दू विरोधी पोस्टर पर पाकिस्तानी नेता की कड़ी आलोचना

इमरान खान नियाजी की पार्टी के नेता ने हिंदू विरोधी पोस्टर को लेकर मांफी मांगी है। ‘कश्मीर एकजुटता दिवस’ पर लाहौर में तहरीक-ए-इंसाफ के नेता अकरम उस्मान ने हिंदू विरोधी पोस्टर लगाए थे। पोस्टर के सोशल मीडिया पर आने के बाद उनकी जमकर आलोचना हुई। जिसके बाद अकरम उस्मान ने हिंदू विरोधी पोस्टरों को लाहौर की दीवारों से हटाया है और इन पोस्टरों के लिए माफी मांगी है।

डॉन न्यूज की रिपोर्ट में कहा गया है कि पीटीआई लाहौर के महासचिव अकरम उस्मान ने प्रधानमंत्री इमरान खान और मुहम्मद अली जिन्ना की तस्वीर वाले बैनरों को ‘कश्मीर एकजुटता दिवस’ के संबंध में लाहौर की सड़कों पर लगवाया था। गुरुवार को मानवाधिकार मंत्री शिरीन मजारी ने कहा कि पीटीआई के महासचिव द्वारा की गई हरकत शर्मनाक है।

सोशल मीडिया पर आलोचनाओं के बाद उस्मान ने ट्विटर माफी मांगते हुए लिखा, ‘मैं सरहद के इधर और उधर, दोनों तरफ के शांतिप्रिय हिंदुओं से माफी मांगता हूं। जैसे ही यह बात मेरे सामने आई, मैंने सभी पोस्टर वापस ले लिए।’ हालांकि अपनी करतूत पर सफाई देते हुए उस्मान ने कहा कि वह भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधना चाहते थे, लेकिन प्रिंटर ने गलती से मोदी की जगह हिंदू छाप दिया।

इससे पहले पिछले साल मार्च में पीटीआई के फैय्याजुल हसन चैहान को हिंदू विरोधी बयान के लिए पंजाब सूचना और संस्कृति मंत्री के पद से हटा दिया गया था,। हिंदू समुदाय के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी पर सोशल मीडिया पर कड़ी आलोचना हुई थी। हालांकि, वह चार महीने बाद पंजाब कैबिनेट में लौट आए।

Leave A Reply

Your email address will not be published.