देखिए कोरोना वायरस से निपटने के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी

कोरोना वायरस ने निपटने के लिए सेहत विभाग अब चाैकस हाे गया है। दैनिक जागरण ने जागरूकता मुहिम ठंडे बस्ते में होने के मामले को लेकर मामले को प्रमुखता से छह फरवरी को प्रकाशित किया था। इसके बाद हरकत में अाए विभाग ने जरूरी तैयारियां शुरू कर दी है। इसकाे लेकर हेल्पलाइन नंबर भी जारी किया गया है, ताकि मरीजाें काे परेशानियाें का सामना न करना पड़े।

सिविल सर्जन डॉ. गुरिंदर कौर चावला ने बताया कि इस संबंध में कोई भी जानकारी स्वास्थ्य मंत्रालय 01123978046, पंजाब स्टेट कंट्रोल रूम 8872090029, जिला जालंधर कंट्रोल रूम 01812224848, जिला एपीडिमोलाजिस्ट 8198831888 तथा टोल फ्री नंबर 104 पर दी जा सकती है। एसएमओ व आइएमए के डॉक्टरों को भी इस संबंध में लोगों को जागरूक करने की हिदायत दी गई है।

जागरूकता मुहिम चलाई

जागरूकता मुहिम के तहत वीरवार को लायलपुर खालसा सीनियर सेकेंडरी स्कूल में कार्यक्रम में जिला एपीडिमोलाजिस्ट डॉ. सतीश कुमार ने कोरोना वायरस के लक्षणों व बचाव के विषय पर विस्तृत जानकारी दी। इस मौके पर किरपाल सिंह, प्रिंसिपल अलका त्रेहन, जगत राम भट्टी, राजन, मनजीत सिंह के अलावा स्कूल का स्टाफ व छात्राएं मौजूद थीं।

नौ लोग विभाग की निगरानी में

सिविल सर्जन डॉ. गुरिंदर कौर चावला का कहना है कि कोरोना वायरस ग्रस्त देश चीन से होते हुए जालंधर पहुंचने वाले नौ लोगों पर विभाग का स्टाफ निगरानी रख रहा है। इनमें चार लोग लोहियां, एक आदमपुर तथा चार लोग जालंधर शहर के शामिल हैं। विभाग की टीमें रोजाना इनका हाल जान रही हैं। चार लोगों के सैंपल लेकर जांच के लिए पुणे भेजे जा चुके हैं।

शरीर में दो से 14 दिन तक रहता है वायरस

डॉक्टर बताते हैं कि दो से 14 दिनों तक यह वायरस शरीर में रहता है। इस वायरस के जींस निकालकर पुराने वायरस के जींस से मिलान करने पर इस रोग का पता चला। यह रोग फेफड़ों पर हमला करके उन्हें खराब कर देता है। दूसरे रोगों में एंटी वायरल ड्रग दी जाती है लेकिन इसमें कोई भी दवा काम नहीं करती। इसका अर्थ यह नहीं है कि इस रोग के सभी मरीजों की जान चली जाती है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.