सचिन तेंदुलकर ने लॉरियस सपोर्टिंग मोमेंट अवॉर्ड अपने नाम किया

भारतीय क्रिकेट टीम के महान बल्लेबाज और क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर ने लॉरियस सपोर्टिंग मोमेंट अवॉर्ड अपने नाम किया है। 20 साल में पहली बार किसी को ये अवॉर्ड मिला है। सचिन तेंदुलकर को ये अवॉर्ड वर्ल्ड कप 2011 के फाइनल में मिली जीत के बाद टीम के खिलाड़ियों ने उनको कंधों पर उठाया था। इसी क्षण के लिए सचिन तेंदुलकर को इस सम्मान से नवाजा गया है। वहीं, सचिन तेंदुलकर ने इस ऐतिहासिक अवॉर्ड को देश और भारतीय क्रिकेट टीम के फैंस को समर्पित कर दिया है।

सोमवार को बर्लिन में आयोजित हुए इस सम्मान समारोह में लॉरियस अवॉर्ड हासिल करने वाले पूर्व दिग्गज बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने मंगलवार को अपने ट्विटर पर इस बात का ऐलान किया है कि वे ये अवॉर्ड भारत के नाम समर्पित करना चाहते हैं। सचिन तेंदुलकर ने लिखा है, “इतना प्यार और समर्थन देने के लिए आप सभी का शुक्रिया! मैं इस लॉरियस अवॉर्ड को भारत, अपनी टीम के साथी खिलाड़ी, फैंस और भारत और दुनियाभर के भारतीय क्रिकेट टीम के शुभचिंतकों को समर्पित करना चाहता हैं, जो हमेशा भारतीय क्रिकेट का समर्थन करते हैं।”

Sachin Tendulkar

@sachin_rt

Thank you all for the overwhelming love and support!

I dedicate this @LaureusSport award to India ??, all my teammates, fans and well wishers in India and across the world who have always supported Indian cricket.

View image on Twitter
4,205 people are talking about this

इस तस्वीर के लिए मिला लॉरियस अवॉर्ड

दुनिया का प्रतिष्ठित अवॉर्ड सचिन तेंदुलकर को वानखेड़े स्टेडियम में वर्ल्ड कप 2011 का फाइनल जीतने के बाद उनके साथी खिलाड़ियों द्वारा उनको कंधों पर उठाया गया था। इस तस्वीर को शीर्षक मिला, ‘Carried On the Shoulders Of A Nation’ इस कैप्शन के साथ सचिन तेंदुलकर के पक्ष में काफी वोट पड़े और पिछले 20 साल के लिए महानत लॉरियस सपोर्टिंग मोमेंट का अवॉर्ड मिला। वहीं, सचिन तेंदुलकर ने ये अवॉर्ड भारतीय क्रिकेट के फैंस के नाम समर्पित करके देशवासियों का दिल जीतने का काम किया है।

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.