जीवन नगर गौंछी में मनी ट्रांसफर एजेंट से लूट का मामला सुलझा

फरीदाबाद : जीवन नगर गौंछी में मनी ट्रांसफर एजेंट से पिस्तौल के बल पर 60 हजार रुपये लूट का मामला सुलझाने का क्राइम ब्रांच सेक्टर-30 पुलिस ने दावा किया है। चार आरोपितों को गिरफ्तार किया गया है। लूट का मास्टरमाइंड नाबालिग है। उसके पिता की पहले सरिया की दुकान थी। किन्हीं कारणों से उसके पिता को व्यापार में घाटा हो गया था और दुकान बंद करनी पड़ी। वह इस कारोबार को नए सिरे से शुरू करना चाहता था। इसके लिए रुपये चाहिए थे, इसलिए लूट की साजिश रची। वारदात से कुछ दिन पहले मुख्य आरोपित अपनी मां के साथ जीवन नगर गौंछी में मनी ट्रांसफर एजेंट सुदर्शन के कार्यालय गया था। वहां उसने देखा कि सुदर्शन के पास गल्ले में काफी रुपये पड़े होते हैं। इसलिए उसने सुदर्शन को टारगेट बनाया। उसके साथियों की पहचान पर्वतीय कॉलोनी निवासी अभिषेक, नजफगढ़ दिल्ली निवासी यूनिस और प्रदीप के रूप में हुई है। पुलिस ने आरोपितों से लूट में प्रयुक्त दो मोटरसाइकिल, दो देसी पिस्तौल, 16 हजार रुपये बरामद किए हैं। फेसबुक फ्रेंड को किया योजना में शामिल

लूट की योजना में मास्टरमाइंड ने पहले अपने दोस्त अभिषेक को शामिल किया। इसके बाद फेसबुक फ्रेंड यूनिस और प्रदीप को भी शामिल किया। तीनों को उसने सरिया के कारोबार में हिस्सा देने का वादा किया था। लूट से पहले चारों ने सुदर्शन के कार्यालय की रेकी की थी। ब्याज पर रुपये लेकर किया पिस्तौल का जुगाड़

आरोपितों ने पुलिस को बताया है कि पिस्तौल के लिए उनके पास रुपये नहीं थे। उन्होंने किसी से 20 हजार रुपये ब्याज पर लिए। इसके बाद यूपी से पिस्तौल मंगवाई। इसी पिस्तौल से लूट को अंजाम दिया गया। मुख्य आरोपित के पास भी अपाचे मोटरसाइकिल है, मगर लूट के लिए उसने अपनी मोटरसाइकिल इस्तेमाल नहीं की। अपने दोस्त से 10 मिनट में वापस करने की कहकर मोटरसाइकिल मांगी। उसकी मोटरसाइकिल पर से नंबर प्लेट हटाकर लूट की। इसके बाद उसे मोटरसाइकिल वापस लौटा दी। पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर आरोपितों को पकड़ा। सब इंस्पेक्टर रविद्र और सिपाही मनोज ने आरोपितों की गिरफ्तारी मे अहम भूमिका निभाई।

Leave A Reply

Your email address will not be published.