चीन में कोरोना से डॉक्टर की मौत, आंकड़ा पहुंचा 2236

चीन में लगातार मौत का आंकड़ा बढ़ रहा है. इस बीच कई भारतीय अब भी वुहान में फंसे हुए हैं. उन्हें वापस भारत लाने के लिए वायुसेना का एयरक्राफ्ट C-17 ग्लोबमास्टर को गुरुवार को वुहान जाना था. भारतीय वायुसेना के बेड़े में यह सबसे बड़ा मिलिट्री एयरक्राफ्ट है और यह भारी मात्रा में राहत सामग्री और दल को खराब मौसम में कहीं भी ले जा सकता है. वायुसेना का यह एयरक्राफ्ट अब तक नहीं जा सका है. ऐसे में सवाल उठने लगे हैं कि क्या चीन इजाजत नहीं दे रहा है.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक चीन ने शुक्रवार को इस बात से इनकार किया है कि वह भारत के एयरक्राफ्ट को वुहान में प्रवेश की इजाजत नहीं दे रहा है. चीन का कहना है कि दोनों देशों के संबंधित विभाग एक दूसरे के संपर्क में हैं. जल्द ही एयरलिफ्ट और मेडिकल सामग्री भेजने के कार्यक्रम को अंतिम रूप दे दिया जाएगा. बता दें कि चीन में भारतीय एंबेसी उन लोगों के संपर्क में है.

 

चीन में अब भी कई देशों के लोग फंसे हुए हैं. हालांकि लगातार कई देश अपने नागरिकों को वहां से एयरलिफ्ट कर वापस ला रहा है. अमेरिका भी चीन के वुहान से अपने 300 नागरिकों को एयरलिफ्ट कर निकाल चुका है.

भारत 647 लोगों को पहले ही कर चुका है एयरलिफ्ट

गौरतलब है कि भारत पहले ही एयर इंडिया के दो विशेष विमान से वुहान में फंसे 647 भारतीयों को वापस ला चुका है. भारत पहुंचने के बाद उनमें से कुछ भारतीयों को कई दिनों तक अलग सैन्य अस्पताल में निगरानी के लिए रखा गया था. भारत ने अपने नागरिकों के अलावा 7 मालदीव के नागरिकों को भी अपने विमान से भारत लाया था. उन्हें भी अस्पताल में निगरानी में रखने के बाद मालदीव भेज दिया गया.

 

चीन में कोरोना से डॉक्टर की मौत, आंकड़ा पहुंचा 2236

उधर, चीन में शुक्रवार को 118 और लोगों की मौत हो गई. इसतरह कोरोना से मरने वालों की संख्या 2236 तक पहुंच गई है. जबकि चीन में अब तक 75465 कोरोना के कन्फर्म केस सामने आए हैं. इस बीच खबर आ रही है कि चीन में कोरोना से एक 29 साल के डॉक्टर की मौत हो गई है. बताया जा रहा है कि कोरोना संक्रमित लोगों के इलाज के लिए डॉक्टर ने अपनी शादी टाल दी थी. लेकिन कोरोना पीड़ितों के इलाज के दौरान संक्रमण से उसकी मौत हो गई. यहा स्वास्थ्यकर्मियों की नौवीं मौत है.

Leave A Reply

Your email address will not be published.