ऋषिकेश घूमने आया दिल्ली का युवक गंगा में डूबा देखिये

ऋषिकेश । होटल गंगा बीच के निकट दिल्ली से घूमने आया एक युवक गंगा में डूब गया। पुलिस ने रेस्क्यू चलाया, लेकिन युवक का कुछ पता नहीं चल पाया। वह मूल रूप से पौड़ी का रहने वाला है।

देर सायं मुनिकीरेती थाने की पुलिस को गंगा तट पर एक युवक के कपड़े मिले। कपड़ों में मिले दस्तावेजों के आधार पर डूबने वाले की शिनाख्त अभिनीत सिंह नेगी (32) पुत्र दिलबाग नेगी निवासी बुराड़ी, नई दिल्ली के रूप में हुई।

जल पुलिस ने आसपास के इलाकों में उसकी तलाश की, लेकिन उसका पता नहीं चला। थाना प्रभारी निरीक्षक आरके सकलानी ने बताया कि युवक के परिजन भी यहां पहुंच गए हैं। अभिनीत ने हाल में ही पढ़ाई पूरी की थी। उसे घूमने-फिरने और तैराकी का शौक था। शनिवार को वह ऋषिकेश आया था।

हथिनीकुंड बैराज में मिला किशोर का शव

बीती 13 फरवरी से वसंत विहार थाना क्षेत्र से लापता किशोर का शव सोमवार को यमुनानगर (हरियाणा) स्थित हथिनीकुंड बैराज से बरामद किया गया। उसके साथ लापता किशोरी का शव बीती 21 फरवरी को ही इंटेक से बरामद कर लिया गया था। पुलिस ने शिनाख्त के बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

बता दें, देहरादून के वसंत विहार थाना क्षेत्र से कक्षा 12 का छात्र जय जुयाल व कक्षा 11 की छात्रा आस्था 13 फरवरी को लापता हो गए थे। दोनों पड़ोसी थे। किशोर के परिजनों ने काफी तलाशने के बाद इंद्रानगर कालोनी पुलिस चौकी में अपहरण का मामला दर्ज कराया था।

पुलिस को दोनों की अंतिम लोकेशन विकासनगर कोतवाली के धौलातप्पड़, कुल्हाल क्षेत्र की मिली। इस पर पुलिस ने सर्च अभियान चलाया तो जय की स्कूटी लावारिस हालत में बरामद हो गई। सुनसान स्थान पर शक्तिनहर किनारे स्कूटी मिलने पर दोनों के आत्महत्या किए जाने की आशंका पुख्ता हो गई थी।

परिजन व पुलिस लापता किशोर-किशोरी को तलाश कर ही रहे थे कि कुछ लोगों ने यूपी के खारा पावर हाउस इंटेक में दो शव देखे जाने की सूचना पुलिस को दी। एसडीआरएफ की टीम ने 21 फरवरी को इंटेक से किशोरी आस्था का शव बरामद कर लिया था, लेकिन इंटेक का पानी ओवरफ्लो होने के चलते जय जुयाल का शव बह गया।

तभी से एसडीआरएफ टीम किशोर का शव तलाशने को यूपी के खारा पावर हाउस से हरियाणा के हथिनीकुंड बैराज तक सर्च अभियान चला रही थी। सोमवार को एसडीआरएफ की टीम ने यमुनानगर, हरियाणा के थाना खिजराबाद क्षेत्र में नहर से किशोर का शव बरामद कर लिया है। एसपी सिटी श्वेता चौबे ने बताया कि आत्महत्या के कारणों के बारे में जानकारी जुटाई जा रही है।

13 दिन में ढाई हजार मैसेज

किशोर का शव मिलने के बाद जय जुयाल के घर में मातम पसर गया। पिता तो यकीन ही नहीं कर पा रहे थे हथिनीकुंड बैराज में मिला शव उनके बेटे का है। आत्महत्या के कारण को लेकर अभी संशय की स्थिति है, लेकिन जय और आस्था के एक से तेरह फरवरी के बीच ढाई हजार मैसेज और अनगिनत कॉल बहुत कुछ इशारा कर जाते हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.