प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बीच नागरिकता संशोधन अधिनियम(सीएए) पर कोई चर्चा नहीं हुई

नागरिकता संशोधन कानून को लेकर देशभर में प्रदर्शन हो रहे हैं. भारत में हो रहे विरोध प्रदर्शनों पर दुनियाभर की नजर है लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बीच नागरिकता संशोधन अधिनियम(सीएए) पर कोई चर्चा नहीं हुई हैं.

भारतीय विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रिंगला ने दोनों नेताओं की मुलाकात के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में इस बात की जानकारी दी. हर्षवर्धन श्रिंगला ने कहा कि दोनों नेताओं के बीच सीएए पर कोई चर्चा नहीं हुई है.

हर्षवर्धन शृंगला ने कहा कि भारत की बहुलता और धार्मिक विविधता की राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने तारीफ की है. डोनाल्ड ट्रंप ने दोनों देशों में दी जा रही धार्मिक स्वतंत्रता की तारीफ की है. हर धर्म के लोगों को उन्हें अपने धर्म को मानने की स्वतंत्रता है. ऑ

जम्मू कश्मीर के सवाल पर हर्ष श्रिंगला ने कहा कि कश्मीर में विकास पर ध्यना केंद्रित किया जा रहा है. हालात बेहतर हो रहे हैं. इसको लेकर सराहना हुई है. पाकिस्तान को आतंकवाद के लिए दी जा रही मदद पर भी दोनों नेताओं ने चर्चा की है.

पाकिस्तान के सावल पर उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के सीमा पार आतंकवाद पर चर्चा हुई. दोनों नेताओं के बीच आतंक, ड्रग, आतंकी फंडिंग पर चर्चा की गई है. दोनों नेताओं ने अपनी-अपनी चिंताएं एक-दूसरे के सामने रखी.

हर्षवर्धन श्रिंगला ने परमाणु ऊर्जा के सवाल कहा था कि एनपीसीआईएल और वाशिंगटन हाउस के बीच बातचीत चल रही है. दोनों कंपनियां समाधान के लिए प्रयासरत है. हो सकता है कि जल्द नतीजे आएं. हर्षवर्धन श्रिंगला ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकन प्रेसिडेंट डोनाल्ड ट्रंप ने एक-दूसरे के साथ अलग-अलग जगहों पर 5 घंटे बिताए हैं.

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.