विरोध कर रहे छात्रों को पुलिस ने खदेड़ा

पुडुचेरी विश्वविद्यालय के छात्र फीस वृद्धि के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं। इसी बीच उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू का पुडुचेरी का दौरा भी होना है।  उनके विश्वविद्यालय के दौरे से पहले पुलिस ने बलपूर्वक छात्रों का निष्कासन कर दिया गया। नायडू बुधवार को दीक्षांत समारोह को संबोधित करने के लिए विश्वविद्यालय का दौरा करने के लिए आ रहे हैं।

प्रशासन ने पहले छात्र प्रदर्शनकारियों से प्रशासनिक ब्लॉक के परिसर को खाली करने का अनुरोध किया था। हालांकि, छात्रों ने ऐसा करने से इनकार कर दिया। इसने विश्वविद्यालय के मेन गेट से पुलिस द्वारा उनका जबरदस्ती निष्कासन किया। सिंध में नाबालिग का जबरन धर्म परिवर्तन, लंदन में संयुक्त राष्ट्र कार्यालय के बाहर भारतीयों ने किया विरोध प्रदर्शन।

पिछले साल इस वजह से सुर्खियों में था  विश्वविद्यालय

बता दें कि इससे पहले पुंडुचेरी विश्वविद्यालय उस वक्त सुर्खियों में आया था। जब पिछले साल यहीं की एक गोल्ड मेडल विजेता छात्रा रबीहा अब्दुरहीम ने आरोप लगाते हुए कहा था कि उसे दीक्षांत समारोह में शामिल होने से रोका गया। बता दें कि इस समारोह के मुख्य अतिथि राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद थे। रबीहा केरल की रहने वाली है। उसने मास कम्युनिकेशन से मास्टर डिग्री पूरी की थी। लेकिन इसने नागरिकता कानून के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे छात्रों के समर्थन में अपना गोल्ड मेडल लेने से इनकार कर दिया था।

हालांकि छात्रों ने दावा किया था कि  दीक्षांत समारोह शुरू होने से पहले रबीहा को एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने ऑडिटोरियम से जाने के लिए कहा था। साथ ही राष्ट्रपति के जाने के बाद उसे ऑडिटोरियम में जाने की अनुमति दी गई थी। इस समारोह में निवर्तमान स्नातकों को स्वर्ण पदक और प्रमाण पत्र दिया जा रहा था। रबीहा ने कहा था कि वह ऐसा करने के पीछे पुलिस अधिकारी की मंशा नहीं जान सकी। आखिर पुलिस अधिकारी ने उसे ऑडिटोरियम से जाने के लिए क्या कहा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.