एक आदमी बार-बार लोगों को आने वाली महामारी के प्रति चेता रहा है, हाल ही में हुए दंगो पर उसने कहा कि “यह संयोग नहीं प्रयोग है

नईदिल्ली : उनकी तैयारी पूरी है।बस तुम ही दूसरे के भरोसे बैठे हो।अभी भी समय है चेत जाओ वर्ना पछताना पड़ेगा जैसे बीमार होने से पहले हमारा शरीर पूर्व चेतावनी अवश्य देता है, समय रहते अगर दवा ले ली जाए तो नुकसान से बचा जा सकता है एक आदमी बार-बार लोगों को आने वाली महामारी के प्रति चेता रहा है, हाल ही में हुए दंगो पर उसने कहा कि “यह संयोग नहीं प्रयोग है”।

सत्ता के शीर्ष पर बैठे व्यक्ति से आप क्या उम्मीद करते हैं कि वह सीधे-सीधे कह दे कि 1947 पार्ट 2 दोहराने का अभ्यास हो रहा है? उसकी हरेक बात पर अंतरराष्ट्रीय मीडिया की नजर रहती है सबसे बड़े लोकतांत्रिक राष्ट्र के मुखिया को हर बात सोच कर, तौल कर बोलनी पड़ती है।वह हमारी तरह किसी की सोनिया-प्रियंका एक नहीं कर सकता।

हिंसा कर रहे लोगों के लिए पहले भी उसने कहा था कि “इन लोगों को कपड़ों से पहचाना जा सकता है”।प्रधानमंत्री पद की मर्यादा में रहकर वो हमें सावधान कर रहा है, सूचना और विश्लेषण के असाधारण स्त्रोत उसके पास है, वह कुछ बोलता है तो उसका ठोस आधार होता है…उसको लक्षण अच्छे नहीं लगे होंगे तभी तो वह हमें वक्त रहते हमें आगाह कर रहा है।

देश विरोधी नारे, हिंदुओं को खत्म करने की प्रतिज्ञा लेना , नार्थ-ईस्ट को तोड़ देने की प्लानिंग करना, आतंकवादियों का समर्थन करना ग़द्दारों के मंसूबे जग-जाहिर कर रहा है….

दुश्मन निरतंर 1400 वर्षों से खून बहाने का अनुभवी है, वह हिंदुओं के प्रतिकार करने की ताकत का अंदाजा ले रहा है, बीच-बीच में छोटे-मोटे दंगे करके चेक किया जाता है कि ‘बंटवारा पार्ट 2’ दोहराने के लिए यह समय अनुकूल है या अभी कुछ साल और रुकना करना पड़ेगा।

वायरस बहुत खतरनाक है , लक्षण अच्छे नहीं है, समय रहते ऐसे संकेतों को समझिए….इस वक्त यह बुजुर्ग आदमी अकेला ही सम्भावित महामारी को नाकाम करने के लिए जी-जान से लगा हुआ है, कभी 370 , कभी 35A तो कभी CAA जैसी मेडिसन दे रहा है।
जरूरत है आज हमें उसका साथ देने की ताकि देश सलामत रहे ताकि वो NRC, NPR, कॉमन सिविल कोड, जनसंख्या नियंत्रण जैसी ऊंचे दर्जे की दवा देने का साहस कर सके…वह आपसे स्वयं के लिए कुछ नहीं मांग रहा, वह मांग रहा है तो है केवल साथ और अदद सहयोग…मजबूती के साथ प्रधानमंत्री के साथ खड़े रहिए…. कृपया– कहीं देर न हो जायें। इसलिए जाग जाओ कहीं देर ना हो जाए। जल्दी जागना सेहत के लिए फायदेमंद होता है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.