मेटल व्यापारी की बेटी का अपहरण कर मांगी थी दो करोड़ की फिरौती

यमुनानगर में मेटल व्यापारी की नाबालिग बेटी के अपहरण के मामले में अब नया मोड़ आ गया है। पुलिस ने फोन की लोकेशन के हिसाब से एक अपहरणकर्ता को पकड़ लिया था, वहीं युवती को भी करनाल की एक कोठी से बरामद कर दिया था। इस मामले में अब लड़की ने कहा कि जिस युवक को पकड़ा है वह उसे बचाने आया था।

जानकारी के मुताबिक यमुनानगर के जगाधरी इलाके से मेटल कारोबारी की साढ़े 17 वर्षीय नाबालिग बेटी का अपहरण हो गया था। युवती घर से बाजार में बर्गर लेने के लिए गई थी, लेकिन रास्ते में उसकी कार से ही उसका अपहरण हो गया। कार रादौर इलाके में बरामद की गई थी वहीं युवती के फोन से ही उसकी मां के फोन पर 2 करोड़ की फिरौती मांगने का मैसेज आया था।

इस मामले में पुलिस की सीआईए टीम ने तुंरत की कार्यवाही करते हुए लड़की का फोन ट्रैस कर लिया था। जिसके बाद लोकेशन करनाल के सेक्टर 13 की आई थी। जिसके बाद पुलिस सीधी करनाल पहुंच गई और यहां पर एक कोठी से युवती और एक युवती को पकड़ा।

जिस कोठी से युवती को बरामद किया गया वो मनन नामक युवक की थी जिसमें उसके नौकर रहते थे। जिस वक्त पुलिस ने छापेमारी की उस वक्त मनन और युवती ही वहां पर मिले, जिसके बाद पुलिस ने मनन और युवती को लेकर वहां से यमुनानगर पहुंचे।

बताया जा रहा है कि जिस युवक को पकड़ा गया है वहीं किसी समय युवती के साथ पढ़ाई कर चुका है। एक नामी स्कूल में दोनों ने एक साथ पढ़ाई की थी। वहीं अब युवती ने भी जिस युवक को पुलिस ने पकड़ा है, उससे बचाने के लिए आने का कहा है जबकि दो अन्य युवकों पर अपहरण का आरोप लगया है।

छात्रा के बयानों के मुताबिक जब वह बाजार से बर्गर लेकर वापस आ रही थी, तब रास्ते में दो युवकों ने उसकी कार के आगे कार लगा दी। जब वह नीचे उतरकर कार को साइड हटाने के लिए कहने गई तो उसे एक युवक ने पकड़कर कार में डाल लिया और मुंह पर टेप लगा दी थी।

अब युवती को बरामद करने के बाद पुलिस ने भी कोर्ट के सामने पेश किया जिसके बाद युवती को मेडिकल के लिए कहा गया लेकिन युवती ने मेडिकल करवाने से इंकार कर दिया। इसके बाद पुलिस युवती को करनाल स्थित प्रोटेक्शन हाउस लेकर पहुंची।

कार में बर्गर लेने गई जगाधरी के बड़े कारोबारी की साढ़े 17 वर्षीय बेटी का बुधवार रात अपहरण कर लिया गया। तलाश की गई तो उसकी कार हुडा सेक्टर-18 के सिटी पार्क के नजदीक मिली। सुबह कारोबारी की पत्नी के मोबाइल पर मैसेज और ईमेल से अपहरणकर्ता ने लड़की को छोड़ने के नाम पर दो करोड़ रुपये की फिरौती मांगी।
वहीं, इस बारे में पुलिस को बताने पर लड़की को जान से मारने की धमकी दी गई। शहर के हाईप्रोफाइल परिवार से जुडे़ इस मामले को पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए 15 घंटे के अंदर आरोपी युवक को गिरफ्तार कर करनाल के सेक्टर-13 स्थित एक कोठी से लड़की को भी बरामद कर लिया है। पुलिस आरोपी युवक से पूछताछ कर रही है। वहीं, देर शाम दोनों का मेडिकल करवाया गया।

मेटल कारोबारी ने शहर जगाधरी पुलिस को दी शिकायत में बताया कि उसकी साढ़े 17 वर्षीय बेटी रात 8 बजे अपनी स्विफ्ट कार में सवार होकर बर्गर लेने घर से निकली थी। साढ़े 8 बजे उसके फोन पर बात हुई। जिसके बाद उसका फोन बंद हो गया। जब उन्होंने उसकी तलाश की तो उसकी कार हुडा सेक्टर-18 के सिटी पार्क के नजदीक खड़ी मिली। इसके बाद देर रात तक उसे तलाश करते रहे।

सुबह कारोबारी की पत्नी के फोन पर मैसेज एवं इमेल आई। जिसमें आरोपी ने लड़की का अपहरण करने की बात कहीं और लड़की को छोड़ने पर अपहरणकर्ता ने दो करोड़ रुपये की फिरौती भी मांगी। मैसेज में लिखा था कि बहुत समझाया था इसको, पर ये नहीं मानी। अब देखों तुम सब इसको बोला था मेरा नुकसान मत कर, पर इसने किया। अगर तुम सब इसको जिंदा देखना चाहते हो तो कल रात तक दो करोड़ तैयार रखना और हां पुलिस के पास जाने की कोशिश मत करना। अगर इसे जिंदा चाहते हो तो।

फिरौती मांगने की बात सामने आने पर पुलिस भी अलर्ट हुई। जिसके बाद शहर थाना जगाधरी व सीआईए वन की दो टीमें गठित की गई। दोनों पुलिस टीमें लड़की व अपहरणकर्ता की तलाश में जुट गई। पुलिस ने जिस मोबाइल से मैसेज आया, उसे सर्विलांस पर लगाया। जिसकी लोकेशन करनाल की आई। जिसके बाद पुलिस को संयुक्त स्टाफ ने लड़की को करनाल के सेक्टर-13 की एक कोठी से बरामद कर लिया गया।

वहीं अपहरणकर्ता करनाल के सेक्टर 32 निवासी मनन को भी काबू किया गया। जिस कोठी में लड़की को रखा हुआ हां पर आरोपी मनन के नौकर रहते थे। पुलिस के अनुसार मेटल कारोबारी की लड़की एक बड़े स्कूल में 12वीं कक्षा की छात्रा है। जिस युवक ने लड़की का अपहरण किया था, वह युवक पहले लड़की के साथ पढ़ता था। बताया जा रहा है कि लड़की व आरोपी के बीच पहले कोई रंजिश हुई होगी। जो मैसेज आरोपी ने लड़की के मां के मोबाइल पर भेजा था।

उससे भी यह अंदेशा लगाया जा रहा है कि आरोपी युवक व लड़की के बीच कोई पुरानी रंजिश है। मैसेज में आरोपी ने कहा था कि बहुत समझाया था इसको, पर ये नहीं मानी। अब देखों तुम सब इसको बोला था मेरा नुकसान मत कर, पर इसने किया। ये शब्द दोनों के बीच किसी विवाद की बात को दर्शाते है। हालांकि इस संबंध में पुलिस व परिजन कुछ बताने से मना कर रहे है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.