ठेके से ईरानी करंसी बदलने के नाम पर 50 हजार रुपये की ठगी

बल्लभगढ़ (फरीदाबाद): यमुना किनारे ग्रामीण क्षेत्र में खुले शराब के ठेके से ईरानी करंसी बदलने के नाम पर 50 हजार रुपये की ठगी करने वाले तीन लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। तीनों को अदालत में पेश किया, जहां से उन्हें न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया। ये अपने आप को ईरान देश के बता रहे हैं। थाना छांयसा पुलिस ने उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

गांव शेखपुर जिला पलवल निवासी राजेश के गांव मौजपुर व यमुना पार गांव शाहजहांपुर खादर के पास शराब के ठेके हैं। पुलिस को दी शिकायत में उन्होंने बताया कि 28 फरवरी की रात 11 बजे गांव मौजपुर के पास वाले शराब के ठेके पर कार आकर रुकी, जिसमें से तीन लोग उतरकर ठेके पर पहुंचे। वे अपने आपको ईरान देश का बताकर वहां की करंसी को इंडियन करंसी में बदलने के लिए कहने लगे। इस दौरान दो युवकों ने झांसे में लेकर सेल्समैन विनय व भोला से 50 हजार रुपये लेकर फरार हो गए। इस घटना के बारे में दूसरे ठेके के सेल्समैन को अवगत करा दिया गया। एक मार्च की रात 8 बजे तीनों युवक कार से शाहजहांपुर खादर वाले शराब के ठेके पर पहुंचे। वहां पर भी ईरानी करंसी बदले की बात करने लगे। पहले से ही जानकारी होने पर सेल्समैन ने शोर मचा दिया, ग्रामीणों ने मौके पर ठगों को पकड़कर धुनाई कर डाली।

शराब के ठेके पर ठगी करने वालों के पकड़ने की सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची, जहां पर तीनों युवकों को गिरफ्तार कर उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया। युवकों की पहचान समीर, रजा, अलीमरधन के नाम से हुई है। कोई पासपोर्ट व अन्य किसी प्रकार के कागजात उनके पास नहीं थे। तीनों ने इस तरह की घटना राजस्थान के जयपुर में भी की हुई है। तीनों को जिला जेल नीमका भेज दिया है।

-बिजेंद्र दहिया, प्रभारी थाना छांयसा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.