बंद कमरे में दो घंटे मानवाधिकार आयोग ने संतोष यादव से की पूछताछ,सैकड़ों समर्थक बाहर इंतजार में खड़े रहे

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

फरीदाबाद : मानवाधिकार आयोग ने समाजसेवी संतोष यादव से मिलकर कई केसों के बारे में पूछताछ की,मानवाधिकार आयोग ने संतोष यादव से पूछताछ के लिए हरियाणा डीजीपी को पत्र भेजा था जो पर्वतीया चौकी इंचार्ज ने संतोष यादव को नोटिस भेज जानकारी दी थी,आयोग की टीम 3 तारीख को पुलिस चौकी में शाम तक इंतजार करके वापिस चली गई थी,क्योकि उस समय संतोष यादव बिहार से ट्रेन से वापसी फरीदाबाद आ रहे थे और 4 तारीख को दोपहर बारह बजे से 2 बजे तक मानवाधिकार आयोग ने संतोष यादव से सम्बंधित काम ,ब्यापार, जन्म स्थान से लेकर समर्थकों पर हुए हमले और तालेबंदी के सभी केसों की जानकारी मौखिक और लिखित रूप में ली ,सामाजिक कार्य करते समय संतोष यादव ने कई आंदोलन छेड़े थे,जिस कारण कई सरकारी केस कोर्ट में संतोष यादव के खिलाफ प्रसाशनिक अधिकारियों ने दर्ज करवाये थे जो इस समय संतोष यादव पर कोई केस नही चल रहा है

सभी केस में कोर्ट से बरी हो गए हैं जो आयोग के सामने कॉपी पेस की आयोग ने दो दर्जन से ज्यादा सवालों का जवाब संतोष यादव से लिखित में लिया,सभी बातों का जवाब बेबाक तरीके से संतोष यादव ने मानवाधिकार आयोग के सामने रखे।दो घंटे पूछताछ के बाद युवा समाजसेवी संतोष यादव समर्थकों के साथ घर पंहुचे और सारी डिटेल लेकर मानवधिकार आयोग की टीम दिल्ली रवाना हो गई,इस मौके पर संतोष यादव ने कहा कि मानवधिकार आयोग की टीम के सभी अधिकारियों ने शालीनता और मृदुभाषि तरीके से सभी सवाल किए और अच्छे अधिकारी थे अंत मे मानवधिकार आयोग की टीम ने संतोष यादव को क्लीन चिट दी और कहा कि अब आपसे किसी तरह की कोई पूछताछ नही होगी हम आपकी बात से संतुष्ट हैं और आयोग आपके साथ है।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like