मध्य प्रदेश में निर्दलीयों के बजाय सिर्फ कांग्रेस विधायकों पर है अब भाजपा का फोकस

मध्य प्रदेश में करीब एक हफ्ते से चल रही सियासी उठापटक को अब परिणाम में बदलने के लिए भाजपा ने ‘ऑपरेशन अंजाम’ शुरू कर दिया है। पार्टी नेताओं के मुताबिक अब मोर्चा खुद केंद्रीय गृहमंत्री और पार्टी के पूर्व अध्यक्ष अमित शाह ने संभाल लिया है।

प्रदेश के पूर्व मंत्रियों व भाजपा विधायकों के खिलाफ जिस तरह से कमलनाथ सरकार ने आक्रामक रुख अपनाया है, उसके बाद पार्टी ने तय किया है कि अब हर हाल में ‘ऑपरेशन अंजाम’ को सफल बनाना है। इसी कड़ी में दिल्ली में शाह के साथ शनिवार को एक नहीं, कई दौर में प्रदेश के नेता व केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेद्र प्रधान ने बातचीत की। प्रधान भी मप्र से ही राज्यसभा सदस्य हैं।

निर्दलीयों की उछलकूद से परेशान-

भाजपा निर्दलीय विधायकों की उछलकूद से परेशान हो गई है। इसलिए उसके फोकस में अब निर्दलीयों के बजाय कांग्रेस के विधायक हैं। विश्वस्त सूत्रों के मुताबिक कांग्रेस के अलग-अलग विधायकों से पार्टी ने पहले से संवाद कर रखा है, अब निश्चित मुहूर्त पर इस ऑपरेशन को अंजाम तक पहुंचाना है। पिछला ‘ऑपरेशन लोटस’ कुछ तकनीकी कारणों से सफल नहीं हो पाया था।

मिश्रा ने शेर पढ़कर दिया संदेश-

पूर्व मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को शेर पढ़ा, जो मौजूदा सियासी हालात पर बेहद सटीक बैठता है। मिश्रा ने कहा ‘ये मंथन, ये परिवर्तन और तमाशा होने दो, कहां-कहां उनके गद्दार छिपे हैं कुछ और खुलासे होने दो।’

कांग्रेस को लगी भनक, सीएम निवास पर बैठक

भाजपा के ऑपरेशन अंजाम की खबर कांग्रेस खेमे को भी लग गई है। इसके बाद शनिवार रात सीएम निवास पर मुख्यमंत्री कमलनाथ, पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह समेत राजनीतिक मामलों की समिति के सदस्यों ने डैमेज कंट्रोल को लेकर फिर बैठक की।

कमलनाथ से मिलकर शेरा बोले-होली बाद बनूंगा मंत्री

उधर, निर्दलीय विधायक सुरेंद्र सिंह शेरा शनिवार को बेंगलुरु से दिल्ली होते हुए भोपाल पहुंचे। उन्हें मंत्री पीसी शर्मा एयरपोर्ट से सीधे मुख्यमंत्री कमलनाथ से मिलवाने ले गए। शेरा के साथ उनकी पत्नी जयश्री ठाकुर व बेटी सुरभि भी थीं। कमलनाथ से मुलाकात के बाद शेरा ने होली के बाद मंत्री बनाए जाने की संभावना जताई। शेरा शाम को फिर दिल्ली लौट गए। इससे उन्हें लेकर फिर संदेह पैदा हो गया।

तीन विधायकों पर सस्पेंस

दूसरी तरफ सियासी जोड़-तोड़ के घटनाक्रम में लापता तीन कांग्रेस विधायकों बिसाहूलाल सिंह, हरदीप सिंह डंग और रघुराज सिंह कंसाना के अब भी नहीं लौटने से सस्पेंस कायम है। इस बीच भाजपा विधायक नारायण त्रिपाठी शनिवार को एक बार फिर विस स्पीकर एनपी प्रजापति से मिलने पहुंचे। वे पहले भी स्पीकर व सीएम से मिल चुके हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.