मंत्री के काफिले की पुलिस गाड़ी ने मां-बेटे को मारी टक्कर

पलवल में ग्रीवेंस कमेटी की बैठक लेने आए हरियाणा के सहकारिता, मंत्री  डा. बनवारी लाल के काफिले को पायलेट कर रही तेज रफ्तार पुलिस की जिप्सी की चपेट में आने से 7 वर्षीय मासूम बच्चे की मौत हो गई। बच्चे की मौत से गुस्साए परिजनों ने पोस्टमार्टम के बाद शव को हाईवे पर रख जाम लगा दिया। शहर थाना पुलिस ने मृतक बच्चे के पिता की शिकायत पर नामजद पुलिस कर्मी के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी हैं।
पलवल शहर थाना प्रभारी राजेश कुमार ने बताया कि ओमैक्स सिटी निवासी विजयपाल ने दी अपनी लिखित शिकायत में कहा है कि मैं और मेरी पत्नी अन्जू व सात वर्षिय बेटा गर्विश उर्फ गन्नू एम्बीनो वैंक्ट हॉल के सामने नेशनल हाईवे नंबर-19 को क्रॉस कर रहे थे। इसी दौरान होडल की तरफ से पुलिस की जिप्सी आई, जिसमें पुलिसकर्मी बैठे हुए थे। पीडि़त का आरोप है कि पुलिस कर्मी जिप्सी को लापरवाही से तेज गति से चलाता हुआ लाया और उसकी पत्नी व बेटे को टक्कर मार दी। जिससे मौके पर बेटे गर्विश उर्फ गन्नू की मौत हो गई, जबकि पत्नी अंजू को भी चोटें आई है। दुर्घटना के बाद पुलिस की जिप्सी मौके से फरार हो गई, जिसके बाद वह अपनी पत्नी व बेटे को एक निजी वाहन से जिला नागरिक अस्पताल लेकर पहुंचा, जहां चिकित्सकों ने बेटे को मृत घोषित कर दिया, जबकि पत्नी को उपचार के बाद घर छुट्टी दे दी।
पीडि़त ने शिकायत पर लिखा है कि शहर थाना प्रभारी राजेश कुमार ने जांच के बाद बताया है कि हरियाणा सरकार में मंत्री डॉ. बनवारी लाल के पलवल आगमण को लेकर पुलिस की जिप्सी एचआर 30यू-5964 पर बतौर चालक पुलिसकर्मी (एसपीओ) कुलदीप हाईवे पर पैट्रोलिंग कर रहा था। पुलिस ने इस संबंध में पुलिसकर्मी कुलदीप के खिलाफ मामला दर्ज कर शव को पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दिया। दुर्घटना के बाद जिला नागरिक अस्पताल में पहुंची पुलिस व मृतक के परिजनों के बीच कई बार झड़पें भी हुई। जिला नागरिक अस्पताल में मृतक बच्चे के परिजनों का आरोप था कि पुलिस जिप्सी का नंबर व चालक का नाम नहीं बता रही।
जिसको लेकर एक बार तो बात हाथापाई तक पहुंच गई। जिसके बाद गुस्साए परिजन जिला नागरिक अस्पताल के शवगृह से बच्चे के शव को निकालकर हाईवे पर जाम करने के लिए चल दिए, लेकिन पुलिस के आश्वासन के बाद मामला शांत हो गया और शव का पोस्टमार्टम कराने के बाद परिजनों को सौंप दिया। जिसके बाद मृतक के परिजनों ने शव को आगरा चौक पर रखकर जाम लगा दिया, परिजनों की मांग थी कि चालक को गिरफ्तार किया जाए। जिस पर डीएसपी यशपाल खटाना ने आश्वासन दिया की आरोपी चालक कुलदीप  पुलिस की गिरफ्त में है। जिसके बाद करीब आधे घंटे लगे जाम को ग्रामीणों ने खोल दिया।

Leave A Reply

Your email address will not be published.