निर्भया के दोषियों को हाईकोर्ट द्वारा फांसी के फंदे पर लटका देने वाला फैसला ऐतिहासिक है इस फैसले का एनएसयूआई खुले दिल से समर्थन करती है

फरीदाबाद : एनएसयूआई के प्रदेश महासचिव कृष्ण अत्री ने कहा कि निर्भया के दोषियों को हाईकोर्ट द्वारा फांसी के फंदे पर लटका देने वाला फैसला ऐतिहासिक है। इस फैसले का एनएसयूआई खुले दिल से समर्थन करती है तथा माननीय हाईकोर्ट और सरकार से  अपील करती है जैसे यह मामला 7 साल तक लटका रहा ऐसे अन्य मामले नही लटकने चाहिए। ऐसे दरिंदगी वाले मामलों की फास्ट ट्रैक कोर्ट में सुनवाई करवाकर 6 महीने में निबटारा कर देना चाहिए। एक निर्भया को तो आज 7 साल बाद न्याय मिल गया लेकिन न जाने अभी कितनी निर्भयाओं को न्याय मिलना बाकी है।

उन्होंने कहा कि आज सात साल के लंबे इंतजार के बाद आज न्याय की जीत हुई। निर्भया की मां ने न्याय के लिए दर-दर की ठोकरें खाईं। सारा देश सड़कों पर उतरा, अनशन किया, लाठी खाई। ये सारे देश की जीत है। एनएसयूआई इस फैसले के लिए न्यायालय का आभार व्यक्त करती है। इस कार्रवाई से संदेश जाएगा कि अगर आप इस तरह के जघन्य अपराध करेंगे तो आपके खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी। इसके साथ ही अब हमें देश में एक कठोर सिस्टम बनाना होगा। विश्वास है बदलाव आएगा, जरूर आएगा। देश ने रेपिस्टों को कड़ा संदेश दिया है कि अगर आप अपराध करेंगे, तो आपको फांसी दी जाएगी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.