किया जाएगा अब ये काम, घर से बाहर निकलने वालों को अब मुर्गा या पिटाई नहीं करेगी पुलिस

झज्जर में लॉकडाउन के दौरान सडक़ों पर बेकार घूमने वालों पर पहले सख्ती दिखाकर उन्हें मुर्गा बनाने और पिटाई करने के बाद पुलिस अब थोड़ी नरम पड़ गई है। अब पुलिस लॉकडाउन के दौरान वेवजह सडक़ों पर घूमने वालों के प्रति थोड़ा नरम रूख अपनाती दिखाई दे रही है। पुलिस ने स्पष्ट किया है कि अब लॉकडाउन के दौरान बाहर सडक़ों पर घूमने वालों की न तो पिटाई की जाएगी और न हीं उन्हें मुर्गा बनाया जाएगा। बल्कि उन्हें सीधी जेल की हवा खिलाई जाएगी। इस बात का खुलासा झज्जर पहुंचे एडीजीपी क्राईम और हरियाणा सरकार द्वारा कोरोना वायरस की सजगता और जागरूकता के लिए लगाए गए नोडल अधिकारी देशराज सिंह ने किया।

मीडिया से बातचीत करने से पहले एडीजीपी क्राईम देशराज सिंह ने जिला उपायुक्त जितेन्द्र दहिया द्वारा कोराना वायरस की रोकथाम और जागरूकता के लिए लगाए गए जिले के सभी नोड़ल अधिकारियों की बैठक ली और उन्हें इस मामले को लेकर विशेष दिशा-निर्देश भी दिए। बाद में पत्रकारों के मुखातिब हुए एडीजीपी क्राईम देशराज सिंह ने कहा कि लॉक डाउन लोगों के कोराना वायरस से बचाव के लिए ही लगाया गया है।

लेकिन कई लोग ऐसे है जिनमें युवा तबका शामिल है बेवजह लॉकडाउन में भी बाइक पर सवार होकर सडक़ों पर घूमते रहते है। लेकिन अब पुलिस ऐसे लोगों को मुर्गा बनाकर उनकी पिटाई नहीं करेगी बल्कि उन्हें सीधे जेल की हवा खिलाएगी। इसके अलावा पुलिस को यह भी निर्देश दिए गए है कि वह वेवजह सडक़ों पर घूमने वाले लोगों के वाहन जब्त करे और भारी भरकम चालान काटे।

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.