परेशान होकर बंद किया मोबाइल फोन, दिग्विजय सिंह को लगातार मिल रही धमकी

भोपाल ।  मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह को पिछले चार-पांच दिनों से लगातार फोन पर धमकियां मिल रही थी। उसके बाद दिग्विजय सिंह ने फोन बंद कर लिया है।

कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने ट्वीट कर लिखा है कि ये वो फोन कॉल्स हैं जो 4/5 दिनों से मुझे परेशान कर रहे हैं। मैंने एमपी के डीजीपी को शिकायत भेजी। मैंने सर्विस प्रोवाइडर से भी बात की, लेकिन ये बंद नहीं हो रहे। अफसोस इस हालत में मुझे अपने मोबाइल नंबर को बंद करना पड़ रहा है।

digvijaya singh

@digvijaya_28

ये वो फोन कॉल्स हैं जो 4/5 दिनों से मुझे परेशान कर रहे हैं। मैंने एमपी के डीजीपी को शिकायत भेजी। मैंने सर्विस प्रोवाइडर से भी बात की लेकिन ये बंद नहीं हो रहे। अफ़सोस इस हालत में मुझे अपने मोबाइल नंबर को ही बंद करना पड़ रहा है।

Twitter पर छबि देखेंTwitter पर छबि देखें
435 लोग इस बारे में बात कर रहे हैं

कोरोना संकट के बीच मैं भोपाल में ही उपलब्ध रहूंगा: दिग्विजय

दिग्विजय सिंह ने कहा है कि कोरोना संकट के बीच मैं भोपाल में ही उपलब्ध रहूंगा। उन्होंने ट्विटर पर अपने आवास के कुछ लैंड लाइन नंबर शेयर किए हैं। साथ ही लिखा है कि आप इन नंबरों में पर मुझसे संपर्क कर सकते हैं। हालांकि, दिग्विजय सिंह की शिकायत पर भोपाल पुलिस की कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है।

digvijaya singh

@digvijaya_28

कोरोना वायरस लॉकडाउन के कारण मैं भोपाल के लैंड लाइन नंबर पर उपलब्ध हूँ।
0755-2441788
0755-2441790
0755-2661550
आप मुझसे सम्पर्क कर सकते हैं।

284 लोग इस बारे में बात कर रहे हैं

बता दें कि दिग्विजय सिंह अभी मध्य प्रदेश से कांग्रेस के राज्यसभा सांसद हैं। नौ अप्रैल को उनका कार्यकाल खत्म हो रहा है। दूसरी बार भी पार्टी ने उन्हें उम्मीदवार बनाया है। 26 मार्च को राज्यसभा चुनाव के लिए वोटिंग होनी थी, लेकिन लॉक डाउन की वजह से चुनाव आयोग ने उसे टाल दिया है। अभी चुनाव आयोग की तरफ से कोई नई तारीख की घोषणा नहीं की गई है।

ट्रोलर के निशाने पर रहते हैं दिग्विजय

दिग्विजय सिंह हमेशा से विरोधियों के निशाने पर रहते हैं। इसलिए ट्रोलर भी उन्हें सोशल मीडिया पर खूब ट्रोल करते हैं। चाहे आरएसएस को आईएसआई की फंडिंग का आरोप हो, या फिर भगवा ड्रेस में बलात्कार का आरोप। ऐसे बयानों में दिग्विजय सिंह अपने साथ-साथ पार्टी की मुश्किलें भी बढ़ाते रहते हैं। मध्य प्रदेश की हालिया सियासी घटनाक्रम में भी उनकी भूमिका पर सवाल उठते रहे हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.