मचा हड़कंप, कोरोना का आशंकित मरीज अस्पताल से हुआ फरार

रादौर में एक कोरोना आशंकित को कोविड अस्पताल में भर्ती कराया गया था। वह बुधवार रात को अस्पताल से फरार हो गया। उसके फरार होते ही पुलिस प्रशासन में हड़कंप मच गया। रात को ही जगाधरी डीएसपी सुधीर तनेजा पुलिस फोर्स के साथ पहुंचे। आशंकित की तलाश की गई लेकिन उसका कोई पता नहीं लग सका। आरोपी युवक के खिलाफ रादौर थाने में लॉक डाउन के उल्लंघन का केस दर्ज किया गया है।

 

दरअसल अलीपुरा गांव के जलघर के पास 10 परिवारों की बीपीएल कॉलोनी है। इसमें बुधवार को कुरुक्षेत्र के गांव मेहरा निवासी पवन कुमार पहुंचा और उन्हें बिजली का कनेक्शन दिलवाने के नाम पर पैसे मांगने लगा। शक होने पर कॉलोनी के लोगों ने सरपंच रामकुमार को सूचना दी। सरपंच ने आरोपी युवक के बारे में बिजली निगम कार्यालय से जानकारी ली, वहां से पता लगा कि यहां पर कार्य नहीं करता। यह धोखाधड़ी कर रहा है। इस पर ग्रामीणों ने उसे पकड़ लिया और धुनाई करने के बाद पुलिस के हवाले कर दिया।

 

पुलिस ने आरोपी से पूछताछ की तो उसने खुद को कोरोना का मरीज बताया। आरोपी ने पुलिस को  बताया कि वह उत्तर प्रदेश के सहारनपुर भी होकर आया है। इसके बाद उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जहां से वह रात को फरार हो गया।

 

जींद में पुलिस को चकमा दे आइसोलेशन वार्ड से फरार हुआ आशंकित- नागरिक अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में वहां पर तैनात पुलिसकर्मियों को चकमा देकर संदिग्ध व्यक्ति फरार हो गया। व्यक्ति का वीरवार को ही सैंपल हुआ था। कोरोना संदिग्ध के फरार होने का पता चलता ही अस्पताल प्रशासन के साथ वहां पर तैनात पुलिस कर्मियों में हड़कंप मच गया। पता चलते ही पुलिसकर्मियों ने अस्पताल में लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज को देखा जिसमें वह अस्पताल से बाहर निकलता हुआ दिखाई दे रहा है। लेकिन उसके बाद वह किस साइड में गया उसका कुछ पता नहीं चल सका। पुलिस के उच्च अधिकारियों के संज्ञान में मामला आने के बाद सभी नाकों पर इसके बारे सूचित किया गया है लेकिन अभी तक उसका कोई सुराग नहीं लगा है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.