Self Add

फसल का एक-एक दाना खरीदेगी सरकार, किसान निश्चिंत रहे : डिप्टी सीएम

प्रदेश सरकार कोरोना महामारी से प्रदेश को बचाते हुए किसानों की फसल की खरीद बेहतर तरीके से करेगी। मंडियों में किसानों को किसी तरह की समस्याएं नहीं आने दी जाएगी। इस संकट की घड़ी में किसान व आढ़ती दोनों सरकार का सहयोग करें। ये बात आज प्रदेश के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कही। वे प्रदेशभर में 15 अप्रैल से शुरु हुई सरसों फसल की खरीद का निरीक्षण करने के लिए अंबाला, कुरुक्षेत्र, करनाल जिलों में मंडियों का दौरा कर रहे थे। इस दौरान उपमुख्यमंत्री ने अधिकारियों को किसानों की फसल खरीद प्रक्रिया में किसी प्रकार की कोताही नहीं बरतने के आदेश दिए। वहीं उन्होंने मंडी में मौजूद किसानों की समस्याएं सुनते हुए उन्हें भरोसा दिलाया कि वे निश्चिंत रहे कि सरकार किसानों की फसल का एक-एक दाना खरीदेगी। साथ ही दुष्यंत चौटाला ने अधिकिरियों से बातचीत कर आगामी गेहूं खरीद की तैयारियों का जायजा भी लिया।

डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि वे मंडियों में आने वाले किसानों व श्रमिकों के लिए सेनेटाइजर, मास्क, पेयजल आदि व्यवस्थाओं में काई कमी नहीं आने दें। उन्होंने कहा कि मंडी में सभी सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान जरूर रखें।

उन्होंने किसानों से बातचीत करते हुए ये भी सपष्ट किया कि फसल खरीद पर लिमिट पूरी फसल पर नहीं बांधी गई है बल्कि कोरोना वायरस के प्रकोप से किसानों व श्रमिकों के बचाव के मद्देनजर प्रतिदिन के हिसाब से तय की गई है। उन्होंने किसानों को भरोसा दिलाया कि सरकार उनकी फसल का एक-एक दाना खरीदेगी और जिसके लिए फसल खरीद की बेहतर व्यवस्था स्थापित की गई है।

उन्होंने बताया कि मौजूदा हालात व तमाम व्यवस्थाओं को समझकर उसे पूरा दुरस्त करते हुए 160 से ज्यादा मंडियों में 15 अप्रैल से सरसों फसल की खरीद शुरू करवाई गई है। उन्होंने ये भी बताया कि इस बार सरसों की खरीद के लिए 67 मंडियों से बढ़ाकर 162 मंडियां बनाई गई है। उन्होंने कहा कि सरकार ने फसल खरीद के लिए आईटी विभाग का भी पूरा प्रयोग किया है। इसके साथ-साथ इस संकट के समय में फसल खरीद के लिए अन्य विभाग के कर्मचारी भी किसानों की मदद के लिए तत्पर है।

फसल खरीद पर सवाल उठाने वाले विरोधियों को जवाब देते हुए उप-मुख्यमंत्री ने कहा कि देशभर में हरियाणा एकमात्र एक ऐसा राज्य है जिसने इस महामारी में सरसों की फसल की खरीद शुरू की है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने किसानों के हित में न केवल सरसों की खरीद शुरू की बल्कि सरसों पर न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) भी लागू किया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेता प्रदेश सरकार की फसल खरीद प्रणाली पर बोलने से पहले ये बताएं कि उनकी पार्टी की सरकार अन्य पंजाब, राजस्थान राज्य में है, वहां अब तक सरसों की खरीद क्यूं शुरू नहीं की गई।

दुष्यंत चौटाला ने कहा कि जो लोग फसल खरीद प्रणाली पर सवाल उठा रहे वे “मेरी फसल मेरा ब्यौरा” योजना के तहत रजिस्ट्रेशन करें, सरकार तय समय के अनुसार बकायदा उन्हें तीन दिन पहले मोबाइल पर संदेश के माध्यम से सूचित करके उनकी फसल खरीदेगी। उन्होंने कहा कि इसी तरह बेहतर व्यवस्थाओं के साथ सरकार 20 अप्रैल से गेहूं की खरीद करने जा रही है। इसके लिए आज उन्होंने मंडियों का दौरा कर अधिकारियों से तैयारियों का जायजा भी लिया है।

उपमुख्यमंत्री ने प्रदेश के किसानों को विश्वास दिलाते हुए अपील की कि वे कोरोना महामारी को समझते हुए सामाजिक दूरी की पालना करते हुए एहतियात बरतें। उन्होंने कहा कि फसल खरीद में किसानों को कोई भी समस्या आड़े नहीं आने दी जाएगी।

साथ ही दुष्यंत चौटाला ने कहा कि प्रदेश सरकार कोरोना महामारी से लड़ने के लिए हर चुनौतियों के लिए पूरी तरह से तैयार है। उन्होंने कहा कि सरकार का लक्ष्य है कि जल्द सबसे पहले हरियाणा को कोरोना मुक्त प्रदेश बनाया जाए। इसके लिए प्रदेश की जनता समेत तमाम वर्गों का पूरा सहयोग मिल रहा है।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
kartea