ऑनलाइन होगी बीएचयू स्नातक प्रवेश परीक्षा, अपने राज्य में टेस्ट देंगे अभ्यर्थी

काशी हिंदू विश्वविद्यालय में इस वर्ष स्नातक प्रवेश परीक्षा पूरी तरह ऑनलाइन होगी। इसके लिए विवि प्रशासन की ओर से तैयारियां तेज कर दी गई हैं। वहीं कवायद के तहत देशभर में परीक्षा केंद्रों की संख्या को बढ़ाने पर भी विचार किया जा रहा है। इससे न सिर्फ अभ्यर्थी अपने राज्य में परीक्षा दे सकेंगे, बल्कि उनके समय की भी बचत होगी।

बीएचयू में प्रवेश के लिए वर्ष 2013 से ऑनलाइन आवेदन की व्यवस्था हुई थी। वहीं पिछले वर्ष परास्नातक प्रवेश परीक्षा कंप्यूटर बेस्ड (ऑनलाइन) आयोजित की गई, जबकि स्नातक स्तर पर यह व्यवस्था वैकल्पिक थी। इसके लिए देशभर के 160 परीक्षा केंद्र बनाए गए थे, जिनमें से 115 पर ऑनलाइन व 45 पर ऑफलाइन परीक्षा हुई। पिछले वर्ष के परिणाम से उत्साहित विवि प्रशासन ने इस वर्ष स्नातक व परास्नातक प्रवेश परीक्षा ऑनलाइन कराने का निर्णय लिया है। इस वर्ष परीक्षा केंद्रों की संख्या को बढ़ाकर 200 तक कर दिया जाएगा। वहीं जिन केंद्रों पर दस हजार से अधिक अभ्यर्थी पंजीकृत होंगे, सिर्फ वहीं के अतिरिक्त अभ्यर्थियों के लिए ऑफलाइन परीक्षा की व्यवस्था होगी।

ऑनलाइन परीक्षा कागज-कलम से नहीं बल्कि कंप्यूटर पर दी जाती है। परीक्षा शुरू होने से पहले 15 मिनट स्टार्ट ट्यूटोरियल से परीक्षा के नियम बताए जाते हैं। फिर परीक्षा शुरू होती है। कंप्यूटर की-बोर्ड और माउस के माध्यम से ही छात्रों को प्रश्नों के उत्तर देने होते हैं। इस बारे में बीएचयू परीक्षा नियंत्रक मनोज कुमार के अनुसार पिछले वर्ष परास्नातक स्तर पर ऑनलाइन व्यवस्था थी, जबकि स्नातक प्रवेश परीक्षा में यह वैकल्पिक था। इस बार पूरी तरह ऑनलाइन प्रवेश परीक्षा कराने की तैयारी है। इसके लिए परीक्षा केंद्रों को बढ़ाने पर विचार किया जा रहा है।

लिखित परीक्षा से अलग

लिखित परीक्षा में टेस्ट बुकलेट दी जाती है, लेकिन इसमें नहीं। परीक्षा केंद्र में लगाए गए कैमरे से फोटो और बायोमेट्रिक इम्प्रेशन लिया जाता है। परीक्षा में बैठने के लिए परीक्षार्थी को कंप्यूटर पर उसका यूजर आईडी और पासवर्ड दिया जाता है। वहीं परीक्षा कक्ष में रबर, पेंसिल, कागज आदि सामग्री रफ कार्य के लिए उपलब्ध कराई जाती है, जिसे परीक्षा समाप्त होने पर वापस भी ले लिया जाता है।

स्क्रीन बताएगा समय

कंप्यूटर स्क्रीन पर एक घड़ी भी दिखाई देती है, जो घटते क्रम में चलती है। इससे परीक्षार्थियों को पता रहता है कि उनके पास कितना समय शेष बचा है। यही नहीं, अगर कुछ सवालों के जवाब छूटे हैं तो उसकी भी जानकारी मिलेगी। सारे प्रश्नों के अवलोकन के बाद जवाब सब्मिट किए जा सकते हैं। वहीं अचानक कंप्यूटर बंद होने की स्थिति में दोबारा लॉग इन करने पर परीक्षा वहीं से शुरू होगी, जहां से बाधित हुई थी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.