फरीदाबाद में एक कांस्टेबल पर तीन बदमाशों ने पत्थर से हमला कर दिया

फरीदाबाद : फरीदाबाद रेलवे स्टेशन पर आरपीएफ के एक कांस्टेबल पर तीन बदमाशों ने पत्थर से हमला कर घायल कर दिया। बदमाश ग्वालियर से बलरामपुर उत्तर प्रदेश को जाने वाली सुशासन एक्सप्रेस में यात्रियों से मोबाइल छीनने का प्रयास कर रहा था। सिर और नाक पर गंभीर चोट आने के बाद भी हरीश पाल ने बदमाशों का पीछा किया और उनमें से एक को मुल्ला होटल के पास काबू कर लिया, जिसकी पहचान कल्याणपुरी निवासी रवि उर्फ बिट्टू बहादुर के रूप में हुई। अन्य दोनों बदमाश मौके से फरार हो गए। जीआरपी ने कांस्टेबल हरीशपाल की शिकायत पर मामला दर्ज किया है।

बुधवार देर रात को सुशासन एक्सप्रेस फरीदाबाद रेलवे स्टेशन के प्लेटफॉर्म नंबर दो पर आकर रुकी। ट्रेन के चलने के साथ ही बिट्टू बहादुर सहित उसके दोनों साथियों ने मोबाइल छीनने का प्रयास किया। इस दौरान यात्रियों ने शोर मचा दिया। यात्रियों के शोर की आवाज सुनकर प्लेटफॉर्म पर ड्यूटी कर रहे कांस्टेबल हरीशपाल ने बदमाशों का पीछा किया। पीछा करने पर तीनों बदमाश दिल्ली की ओर रेलवे लाइन के किनारे भागने लगे। पीछा कर कुछ दूरी पर हरीशपाल ने बिट्टू बहादुर को पकड़ लिया।

पकड़े गए बदमाश को छुड़ाने के लिए अन्य बदमाशों ने उन पर पत्थर से हमला कर दिया। घायल होने के बावजूद उन्होंने बदमाश को नहीं छोड़ा। शोर सुनकर वेंडर भी मौके पर पहुंच गए। इस पर दोनों बदमाश फरार हो गए। घायल हरीशपाल को नागरिक अस्पताल लाया गया और बिट्टू बहादुर को जीआरपी के हवाले कर दिया गया। थाना प्रभारी मनजीत सिंह ने बताया कि बिट्टू बहादुर ने अपने साथी बदमाशों के साथ मिलकर जून 2019 में भाजपा के पूर्व सांसद जयभान सिंह पवैया का सामान दक्षिण एक्सप्रेस के एसी कोच से चोरी किया था। इसके अलावा तीन और घटनाओं को अंजाम दे चुका है। जीआरपी ने बृहस्पतिवार को बिट्टू बहादुर को कोर्ट में पेश किया। कोर्ट ने उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया।

Leave A Reply

Your email address will not be published.