इस तरह से पहचानें, बच्‍चे को सर्दी जुकाम कोविड है या नहीं

image Source : google

पानीपत : पूरे देश में एक बार फिर से कोरोना का खतरा मंडराने लगा है। इस बार कोरोना ने बच्चों को निशाना बनाया है। हरियाणा, दिल्ली, एनसीआर के कई स्कूलों में बच्चे कोविड पाजिटिव मिले है। ऐसे में हरियाणा में भी कोरोना अपने पैर पसार रहा है। हरियाणा में इस समय गर्मी बढ़ने के कारण बच्चे सर्दी-जुकाम, उल्टी, दस्त से पीड़ित है। ऐसे में परिजनों को डर सताने लगा है कि उनके बच्चे भी कोरोना की चपेट में न आ जाए। ऐसे में चिकित्सकों ने सलाह दी है कि कोरोना को कैसे पहचानें।

सर्दी जुकाम का मतलब कोरोना नहीं

दिल्ली यूपी में कोरोना पाजिटिव बच्चों की संख्या बढ़ी तो हरियाणा में हड़कंप मच गया। चिकित्सकों की मानें तो बच्चों में सर्दी-जुकाम होने भर से कोरोना हो जाए ऐसा नहीं है। इसलिए घबराने की जरूरत नहीं है। अब सवाल ये है कि आप कैसे पता करें कि आपके बच्चे को साधारण सर्दी जुकाम है कोविड नहीं। इस पर विशेषज्ञों का कहना है कि कोरोना वायरस के लक्षण खांसी जुकाम या फ्लू से काफी मिलते-जुलते हैं। ऐसे में कुछ बातों का ध्यान रखें

बच्चे को अगर जुकाम के साथ बुखार नहीं है तो ये कोरोना के लक्षण नहीं है

यदि परिवार में कोई कोरोना पाजिटिव नहीं है तो बच्चे का जुकाम आम वायरल की वजह से हो सकता है

ये हो सकते हैं कोरोना के लक्षण

बच्चों को लगातार और तेज बुखार होना, आंखों में सूजन, होंठ, जीभ, हाथ और पैर पर लाल निशान होना, आंखें लाला या गुलाबी दिखना कोरोना के लक्षण हो सकते हैं। अगर ये लक्षण आपको बच्चे में दिखें तो तुरंत डाक्टर से चेकअप करवाएं।

 

डायरिया से भी रहें सावधान

बाल रोग विशेषज्ञ ने बताया कि इस बार समय से पहले गर्मी का मौसम शुरू होने के कारण बच्चे डायरिया की चपेट में आ रहे हैं। ओपीडी में बुखार, उल्टी व दस्त से पीडि़त बच्चों को अभिभावक इलाज के लिए लेकर आ रहे हैं। इससे बचाव को लेकर अभिभावकों को जागरूक होने की जरूरत है। खाना-खाने से पहले बच्चे हाथों को अच्छी तरह से साफ करें। धूप में बाहर न निकले। पानी उबालकर या आरओ का पीएं। बासी खाना व फास्ट फूड के सेवन से बचें। ताजा फल व खाना खाएं। इस प्रकार की दिक्कत आने पर विशेषज्ञ चिकित्सक से जांच करवाकर इलाज लें।

 

ये हैं डायरिया के लक्षण

-जी मिचलाना, पेट में मरोड़ व लूज मोशन, बुखार होना व मल में खून आना, मुंह का सूखना, सिर में दर्द व थकान महसूस करना।, चिडचिड़ापन व सुस्ती आना।

 

source news: jagran

Leave A Reply

Your email address will not be published.