महाराष्‍ट्र में कल से नहीं चलेंगी एसी लोकल ट्रेनें

महाराष्ट्र में पश्चिम रेलवे की ट्रेनों में एसी स्थानीय सेवाओं को कल से रद कर दिया जाएगा। एसी स्‍थानीय सेवाओं को 31 मार्च तक गैर-एसी उपनगरीय सेवाओं से प्रतिस्थापित किया जाएगा। पश्चिम रेलवे के जनसंपर्क अधिकारी (पीआरओ) ने यह जानकारी देते हुए कहा कि यह कदम कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए उठाया गया है।

दरअसल, कोरोना वायरस के खिलाफ भारत की जंग का ये बेहद अहम पढ़ाव चल रहा है। अगर इस पढ़ाव को हमने पार कर लिया, तो भारत ये जंग जीत जाएगा। भारत में अभी तक कम्‍यूनिटी ट्रांसमिशन नहीं हुआ है, जो कोरोना वायरस के फैलने का तीसरा चरण है। लोगों में इस जानलेवा वायरस का काफी कहर देखने को मिल रहा है। कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए लोग सफर करने से परहेज कर रहे हैं और लगातार टिकट रद कराए जा रहे हैं। यात्रियों की कमी की वजह से भारतीय रेलवे ने 20 मार्च से 31 मार्च तक 168 ट्रेनों को रद कर दिया है। रेलवे ने कहा है कि कोरोना वायरस के कारण रद की गई ट्रेनों के लिए कोई कैंसिलेशन चार्ज नहीं लिया जाएगा। ट्रेन कैंसल होने पर यात्रियों को 100 प्रतिशत रिफंड मिलेगा। वैसे, बता दें कि कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए भारतीय रेलवे यात्रियों की सुरक्षा के मद्देनरज साफ-सफाई का खास ध्‍यान रख रही है।

बता दें कि महाराष्‍ट्र में अब तक कोरोना वायरस से संक्रमण के 47 मामले सामने आ चुके हैं। ऐसे में महाराष्‍ट्र सरकार कई कड़े कदम उठा रही है। कुछ मार्केट भी बंद करने का निर्णय लिया गया है। वहीं, मुख्‍यमंत्री उद्धव ठाकरे ने लोगों से अपील की है कि ट्रेनों में कम से कम सफर करें। इसके बाद से मुंबई की लोकल ट्रेनों में लोग काफी कम नजर आ रहे हैं। इधर, महाराष्ट्र में लगातार बढ़ रहे कोरोना वायरस के मामलों के चलते मुंबई के डब्बावालों ने भी 20 मार्च से 31 मार्च तक के लिए अपनी सेवाएं निलंबित कर दी हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.