देखिये, Yes Bank को बचाने के लिए आगे आया ICICI Bank

नई दिल्ली । नकदी की किल्लत से जूझ रहे यस बैंक को उबारने के लिए आईसीआईसीआई बैंक ने 1,000 करोड़ रुपये के निवेश को मंजूरी दी है। इस निजी बैंक ने शुक्रवार को स्टॉक एक्सचेंज फाइलिंग के दौरान यह जानकारी दी। बैंक ने कहा कि आईसीआईसीआई बैंक बोर्ड ने यस बैंक में 10 रुपये प्रति शेयर के हिसाब से 100 करोड़ इक्विटी शेयर के अधिग्रहण को मंजूरी दी है। बैंक ने कहा, ‘यह निवेश यस बैंक लिमिटेड में आईसीआईसीआई बैंक लिमिटेड की हिस्सेदारी को पांच फीसद से बढ़ाने का परिणाम है।’

वहीं, केंद्रीय कैबिनेट ने शुक्रवार को यस बैंक के री-कंस्ट्रक्शन के लिए आरबीआई द्वारा प्रस्तावित योजना को भी मंजूरी दे दी है। आरबीआई द्वारा प्रस्तावित इस योजना के तहत भारतीय स्टेट बैंक यस बैंक की 49 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदेगा।

ANI

@ANI

ICICI Bank: Our board at its meeting yesterday has approved for an equity investment of up to Rs 10 billion in equity shares of , comprising up to 1 billion equity shares at a price of Rs 10 per share, under the proposed scheme of reconstruction of the bank.

Twitter पर छबि देखें
83 लोग इस बारे में बात कर रहे हैं
केंद्रीय कैबिनेट के फैसले के बाद मीडिया को संबोधित करते हुए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि कैबिनेट ने यस बैंक के री-कंस्ट्रक्शन के लिए आरबीआई द्वारा प्रस्तावित योजना को अनुमति दे दी है और इस स्कीम में जमाकर्ताओं के हितों और यस बैंक की स्टेबिलिटी को केंद्र में रखा गया है।

गौरतलब है कि आरबीआई ने पांच मार्च को यस बैंक पर रोक लगायी थी और खाताधारकों के लिए 50,000 रुपये तक की निकासी सीमा तय कर दी थी। आरबीआई द्वारा यह रोक तीन अप्रैल तक के लिए लगायी गयी है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.