पढ़िये- एक्सपर्ट व्यू कोरोना वायरस से दिल्ली-मुंबई समेत देशभर में किन लोगों की हो रही है मौत?

image Source : google

देश की राजधानी दिल्ली में पिछले दो सप्ताह से कोरोना का संक्रमण बढ़ा हुआ है। इस वजह से इस माह अब तक 15 हजार से अधिक मामले आ चुके हैं और सोमवार तक 28 मरीजों की मौत हो चुकी है। इस संदर्भ में डाक्टर कहते हैं कि पहले की तरह अभी सिर्फ कोरोना का संक्रमण मरीज की मौत का कारण नहीं बन रहा है। लोकनायक अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड की प्रभारी डा. रितु सक्सेना ने कहा कि अभी ज्यादातर मरीजों को कोरोना की हल्की बीमारी हो रही है। इसलिए लोगों को घबराने की जरूरत नहीं है। कोरोना के संक्रमण के अलावा सिर्फ कोरोना मौत का कारण नहीं बन रहा है। मौत उन मरीजों की हुई है जिन्हें पहले से किडनी, दिल, लिवर व सांस की गंभीर बीमारी थी।

शालीमार बाग स्थित फोर्टिस अस्पताल के पल्मोनरी विशेषज्ञ डा. विकास मौर्या ने कहा कि दूसरी लहर में कोरोना का संक्रमण होने के चार-पांच दिन के अंदर कई मरीजों की मौत हो जाती थी। अभी मौत का कारण दूसरी गंभीर बीमारियां बन रही हैं। ऐसे मरीजों को कोरोना का संक्रमण होने पर बीमारी लंबे समय तक चलती है। इनमें से कुछ मरीजों की मौत हो जाती है।

 

 

 

कुछ बच्चे भी हो रहे कोरोना से संक्रमित

डा. रितु ने कहा कि कोरोना का संक्रमण थोड़ा बढ़ने के कारण कुछ बच्चे भी इसकी चपेट में आ रहे हैं। प्रतिदिन कोरोना संक्रमित दो-तीन बच्चे इलाज के लिए पहुंचते हैं। इसका कारण यह है कि 12 साल से कम उम्र के बच्चों को अभी कोरोना का टीका नहीं लगा है।  आकाश सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल के पल्मोनरी मेडिसिन के विशेषज्ञ डा. अक्षय बुद्धिराजा ने कहा कि अस्पताल में किसी दूसरे गंभीर बीमारी के कारण भर्ती मरीज भी कोरोना संक्रमित पाए जा रहे हैं। ऐसे मरीजों की ही हालत बिगड़ रही है। जिन्हें पहले से कोई बीमारी नहीं है उनमें कोरोना की हल्की बीमारी देखी जा रही है।

 

 

source news : jagran

Leave A Reply

Your email address will not be published.